गोरखपुर
टोल प्लाजा पर लगी लंबी कतारें
title=

 गोरखपुर। नोटबंदी के बाद फुटकर की कमी को देखते हुए बंद टोल प्लाजा फिर शुरू हो गए हैं। बीती रात से एक बार फिर टोल प्लाजा पर टैक्स लिया जाने लगा है। इससे वहां गाड़ियों का रेला लगना शुरू हो गया है। 8 नवम्बर को नोटबंदी के बाद देश में एक सकारात्मक माहौल पैदा हुआ था लेकिन दो दिनों बाद ही लोगों को समस्याएं होने लगीं थीं। इन समस्याओं में टोल प्लाजाओं पर लगाने वाले टैक्स का भुगतान भी शामिल था। इस वजह से केंद्र सरकार ने त्वरित निर्णय लेते हुए टोल प्लाजाओं पर लगाने वाले टैक्स को न लेने का फरमान जारी कर दिया था। अब शनिवार की रात से टोल प्लाजाओं पर लगाने वाले टैक्स को लेने के लिए एक बार आदेश जारी किया गया है। इस वजह से शनिवार की आधी रात से टोल प्लाजाओं पर टैक्स जमा करवाने का काम शुरू हो गया है। यह बात अलग है कि अब भी लोगों के पास फुटकर की कमी है और उन्हें टैक्स अदा करने में अब भी कठिनाइयां आ रहीं हैं। फुटकर के आभाव में टोल प्लाजाकर्मियों और वहां चालकों के बीच नोकझोंक शुरू है। ऐसे में काफी देर तक वहां टोल प्लाजा पर खड़े हो रहे हैं और वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग रहीं हैं। कुशीनगर में हेतिमपुर समेत गोरखपुर, बस्ती में भी टोल प्लाजा पर वाहनों की लंबी कतारें लगीं हैं। चालक रामचंद्र वर्मा का कहना है कि मैं आधे घंटे से टोल प्लाजा पर खड़ा हूँ। 2000 की नोट दे रहा हूँ, लेकिन प्लाजा कर्मी फुटकर पैसे की मांग कर रहे हैं। अब मैं फुटकर पैसा कहाँ से लाऊं? असम से ट्रक लेकर आ रहे रामनिवास यादव भी फुटकर के आभाव में ही अपनी गाड़ी सड़क के किनारे लगाने जा रहे थे। जिनका कहना था कि जब टोल प्लाजा पर पर्याप्त फुटकर नहीं है, तो ऐसे में टैक्स वसूली कुछ दिन और टालना चाहिए था। 

  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।