राज्यों से
हरियाणा को 2017 तक खुले में शौच मुक्त बनाने का लक्ष्य
title=

 चंडीगढ़, 30 सितम्बर (हिस)। हरियाणा सरकार ने राज्य को वर्ष 2017 में ही खुले में शौच से मुक्त बनाने के अतिरिक्त वर्ष 2019 तक सभी ग्राम पंचायतों में ठोस व तरल अपशिष्ट प्रबंधन परियोजनाएं क्रियान्वित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है, जो कि स्वच्छ भारत मिशन का प्रमुख घटक है।

 
मुख्यमंत्री मनोहर लाल आज नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आयोजित स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत ‘इंडोसन’ स्वच्छ भारत से संबंधित कार्यशाला में बोल रहे थे। इस कार्यशाला मेें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन में श्रेष्ठ कार्य करने वाले राज्यों को पुरस्कृत किया। केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री वैंकेय्या नायडू ने खुले में शौच से मुक्त हुए देश के 27 जिलों को प्रमाण पत्र दिये जिनमें हरियाणा के तीन जिले सिरसा, पंचकूला व पनीपत को प्रमाण पत्र दिया गया।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि सम्पूर्ण स्वच्छ गांव बनाने के लिये ठोस व तरल अपशिष्ट प्रबन्धन भी अति आवश्यक है। हरियाणा के तीन जिले पंचकूला, सिरसा व पानीपत पिछले एक माह में खुले में शौच से मुक्त हो गये हैं। पांच और जिले फतेहाबाद, फरीदाबाद, गुडग़ांव, कुरुक्षेत्र व यमुनानगर भी एक नवंबर, 2016 तक खुले में शौच मुक्त हो जाएंगे। सम्पूर्ण हरियाणा राज्य को वर्ष 2017 में ही खुले में शौच से मुक्त बनाने का लक्ष्य रखा गया है। 
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।