लाइफस्टाइल
वजन कम करने के लिए खाएं तुलसी और हरा धनिया, 5 घरेलू नुस्खे
title=


हेल्थ डेस्क।

दीपावली जैसे फेस्टिवल पर ओवरइटिंग हो ही जाती है। इससे कुछ वजन भी बढ़ जाता है। फेस्टिव सीजन के बाद वेट लॉस करने के लिए शरीर को डिटॉक्स करना ज़रूरी है। डिटॉक्स ऐसी प्रोसेज है जिसमें बॉडी में मौजूद बैड केमिकल दूर हो जाते हैं और हम लाइट फील करते हैं। 5 चीजों के बारे में जो आपके किचन में ही मिल जाएंगी। इन्हें खाकर आप आसानी से अपनी बॉडी को डिटॉक्स कर सकते हैं :

धनिया पत्ता : इसका इस्तेमाल तो हर भारतीय खाने में होता है। फेस्टिव सीजन के बाद रोजाना सुबह उठकर धनिया पत्तों को बारीक पीस लें और एक गिलास गर्म पानी के साथ लें। तीन दिन में ही बॉडी के सारे बैड केमिकल्स दूर हो जाएंगे। बढ़ा हुआ वजन कम होगा। इससे कब्ज़ से भी राहत मिलेगी। साथ ही यह डाइबीटिज और एनीमिया को कंट्रोल करने में भी मदद करता है।

तुलसी : जल्दी डाइजेशन और मेटाबॉलिज्म की प्रोसेस को तेज करने में तुलसी बहुत मदद करती है। तो फेस्टिव सीजन में आपने जो ज्यादा खाया है, उसे यह बैलेंस करने का काम करेगी। इससे वजन कम होने के साथ-साथ बॉडी लाइट फील होगी। यह इम्युनिटी को बढ़ाकर शरीर को किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन और बीमारी से दूर रखती है।

यह नैचुरल तरीके से शरीर को डिटॉक्स तो करता ही है, साथ ही बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर भी बनाता है। इसे खाने से शरीर हल्का फील करता है। पुदीने के पत्तों को पीसकर पानी के साथ खा लें या फिर पराठों में डालकर भी इसे खाया जा सकता है।

कढ़ी पत्ते (मीठे नीम के पत्ते) से भोजन में फ्लेवर आने के साथ-साथ वेट लॉस करने में भी मदद मिलती है। कढ़ी के पत्तों में लैक्सेटिव प्रॉपर्टी होती है जिसके कारण यह डाइजेशन पॉवर बढ़ाता है और शरीर से टॉक्सिक केमिकल्स निकालने में मदद करता है। इससे वजन कम करने में भी मदद मिलती है। दीपावली के बाद कम से कम सात दिन तक आपको अपने भोजन में कढ़ी पत्तों को जरूर शामिल करना चाहिए।

वैसे तो नींबू को रोज ही भोजन में या पानी के साथ लेना चाहिए। यह फायदा ही करेगा। लेकिन फेस्टिव सीजन के बाद तो इसे कम से कम सात दिन लेना ही चाहिए। यह बॉडी को डिटॉक्स करने का एक आसान उपाय है। फेस्टिवल की अगली सुबह से ही गुनगुने गर्म पानी में शहद और नींबू डालकर पीने से बॉडी में हल्कापन आएगा और कुछ ही दिनों में वज़न में भी कमी फील करेंगे। नींबू में एंटी एजिंग प्रॉपर्टी होती है और यह इम्युनिटी को भी बढ़ाता है।

  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।