राज्यों से
सगे भाईयों के शवों पर लगाया बहिन ने भाईदूज का तिलक, नदी में डूब कर हुई थी मौत
title=



जबलपुर।

सूरतलाई में यशवंत पांडे के घर पर उस समय लोग फफक-फफक कर रो पड़े जब भाईदूज के मौके पर दो सगे भाइयों के शवों पर उनकी बहन ने अंतिम तिलक लगाया। कई लोग तो यह दृश्य देखकर रोते हुए शवों से दूर चले गए। वहीं मृतक 14 वर्षीय आशीष एवं आदर्श पांडे की बड़ी बहन 18 वर्षीय पूजा की तो रुलाई नहीं रुक रही थी । पूजा को बड़ी मुश्किल में भाइयों के शवों के पास भाईदूज का तिलक लगाने लाया गया। यह दृश्य देख परिवार की अनेक महिलाएं अर्धबेहोशी की हालत में पहुंच गईं। अनेक लोग तो यह भी कहते पाए गए कि भाईदूज पर किसी बहन को ऐसा दृश्य न देखना पड़े।

सूरतलाई में रहने वाले पेशे से टेलर मास्टर यशवंत पांडे के दोनों पुत्र आशीष और अादर्श कल अपरान्ह 4 बजे के करीब अपने चचेरे भाइयों 24 वर्षीय सचिन सोंधिया और आदर्श पांडे के साथ बाइक पर तिलवारा पिकनिक मनाने गए थे। उक्त चारों लोग पहले तो घाट पर पहुंचे और फिर उन्होंने नहाने के लिए अपने कपड़े किनारे पर रखे और नहाने लगे। नहाते समय दोनों भाई गहरे में चले जाने के कारण डूब गए। उन्हें डूबता देख कर साथ गए चचेरे भाइयों ने चिल्लाकर मदद की गुहार लगाई, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। देर रात तक नाविकों के जरिये आशीष और आदर्श की खोजबीन की गई, लेकिन दोनों का पता न चला।

रात ज्यादा होने के कारण खोज का काम रोक दिया गया, उसके बाद सुबह से गोताखोरों ने खोज का काम शुरू किया। पहले तो घाट के आसपास ही खोजबीन की गई, जब गोताखोरों को सफलता नहीं मिली तो थोड़ी दूर जाकर खोजबीन की गई, लगभग एक किलोमीटर दूर जाकर दोनों भाइयों के शव मिल गए। शव मिलने के बाद पुलिस ने शव पीएम के िलये मेडिकल अस्पताल भिजवा दिया। वहां से दोनों शवों को सूरतलाई उनके घर लाया गया।

  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।