राज्यों से
स्वतंत्रता दिवस पर तीन कैदियों की सजा हुई माफ
title=

 शिमला, हि.स.। स्वतंत्रता दिवस का पर्व प्रदेश की जेलों में सजा काट रहे तीन कैदियों के लिए खुशियां लेकर आया है। इस दौरान तीन कैदियों को सजा में माफी देकर रिहाई मिलेगी। सरकार द्वारा इन कैदियों को विशेष सजा माफी देने पर तीनों कैदी इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस अपने परिवार वालों के साथ मना पाएंगे। 15 अगस्त पर रिहा हाने वाले कैदी नाहन, धर्मशाला, हमीरपुर जेल में सजा काट रहे हैं।

राज्य सरकार ने अपनी शक्तियों का प्रयोग करते हुए बंदियों को विशेष सजा माफी (रिमिशन) की घोषणा की है। रिमिशन का लाभ 428 कैदियों को मिलेगा। सरकार ने आजीवन कारावास से दंडादिष्ट बंदियों को सम्मिलित करते हुए 10 वर्ष से अधिक के कारावास से दंडादिष्ट कैदियों की सजा तीन माह कम की है। पांच वर्ष से अधिक और दस वर्ष के कारावास दंडादिष्ट कैदियों की दो माह तीन वर्ष से अधिक और पांच वर्ष तक के कारावास से दंडादिष्ट को 45 दिन, एक वर्ष से अधिक और तीन वर्ष तक के कारावास से दंडादिष्ट बंदी की 30 दिन और तीन मास से अधिक और एक वर्ष तक के कारावास कैदी की सजा 15 दिन कम की है। इसके अतिरिक्त प्रदेश के बंदी गृहों में 813 कैदी सजा काट रहे हैं, जिसमें से 382 कैदी सरकार की रिमिशन के दायरे में नहीं आते है। बाकी 428 कैदियों को रिमिशन का लाभ मिलेगा जबकि तीन को सजा माफी मिल रही है।
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।