उत्तरप्रदेश
नर्स ने नाबालिग का 8 माह तक कराया रेप, छोटी बहन पर भी आरोपी की नजर
title=


कानपुर।

लखनऊ पीजीआई की नर्स पर नाबालिग का 8 महीने तक रेप कराए जाने का मामला सामने आया है। आरोप है कि नर्स पीड़िता को बातों में फंसाकर अपने साथ कानपुर से लखनऊ ले आई। बाद में उसका डॉक्टरों से रेप करवाया। पीड़‍िता के मुताबिक, जब वह इसका विरोध करती थी बर्रा इलाके के रामजानकी मंदिर के पास रहने वाले सुनील के परिवार में पत्नी और दो बेटियां हैं। आरोपी सुशीला सचान लखनऊ पीजीआई में नर्स है। उसका कानपुर के बर्रा में दो स्कूल और लखनऊ के बरगंवा गांव में शांति मेडिकोस नाम का हॉस्पिटल भी है। पीड़ित छात्रा सोनिया (बदला हुआ नाम) सुशीला और उसकी बहन भी यहीं पढ़ती थीं। इसी स्कूल में पीड़ि‍ता की मां साफ-सफाई का काम करती थीं।

पीड़िता ने बताया कि बीते 26 जनवरी 2015 को सुशीला सचान मेरे घर आई। उसने मेरी मां से कहा कि आयुषी को मेरे साथ लखनऊ भेज दो। वह मेरी और मेरे 2 साल के बच्‍चे की देखभाल करेगी। मां ने मुझे उसके साथ लखनऊ भेज दिया। सुशीला ने एक हफ्ते तक तो ठीक से रखा, लेकिन इसके बाद अचानक एक दिन वार्ड की सफाई करने को कहा। वार्ड में तीन लोग पहले से मौजूद थे, जिन्‍होंने मेरे साथ रेप किया। इसके बाद वहां 8 महीने तक अलग-अलग डॉक्‍टरों ने मेरा रेप किया। पीड़िता के मुताबिक, मैं किसी तरह भागकर 8 अगस्त 2015 को घर आ गई। सुशीला दोबारा घर आई और मां से छोटी बहन को अपने साथ लखनऊ ले जाने के लिए दबाव बनाने लगी। मैंने मां को अपने साथ हुई आपबीती के बारे में बताया, जिसके बाद पूरे मामले की जानकारी एसएसपी को दी।  उन्‍होंने बर्रा थाने में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए।

  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।