राज्यों से
कुंवारे जेठ ने बहू से बनाया अवैध संबंध, फिर दोस्तों से रेप करवा खेत में गाड़ दिया
title=



पाली/उदयपुर।

राजस्थान के साकदड़ा गांव से 9 महीने पहले लापता हुए दो बच्चों को ऑपरेशन स्माइल के तहत खोजने पहुंची पुलिस को दोनों मिल तो गए, लेकिन वे 7 माह से जमीन में दफन थे। साथ में उनकी मां का कंकाल भी मिला। तहकीकात में मामला हत्या का निकलने पर पुलिस ने लड़की के जेठ के साथ पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया।
कुंवारे जेठ फूलपुरी ने छोटे भाई की पत्नी पिंकी से अवैध संबंध बनाए। बाद में तीन साथियों के भी जबरन संबंध बनवा दिए। पिंकी ने मामला दर्ज कराने की धमकी दी तो 15 जून 2015 को फूलपुरी और 5 आरोपियों ने मिलकर उसकी हत्या कर दी। - साथ में दोनों बच्चे दुर्गेश (3) और मुकेश (13 दिन) को मारकर एक खेत में गाड़ दिया था।

पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपी फूल पुरी गोस्वामी मृतका का जेठ है, जो अवैध संबंध के चलते छोटे भाई की पत्नी पिंकी व उसके तीन साल के बेटे को जून 2014 में अपने साथ भगा कर जोधपुर ले गया था। इसके बाद वहां उसने अपने दोस्त मंगलाराम पटेल व ओमप्रकाश देवासी को भी दुष्कर्म करने के लिए पिंकी को इन दोनों के हवाले कर दिया। इस बीच पिंकी ने एक और बेटे को जन्म दिया। मृतका इसका विरोध करती रही और पुलिस के सामने तीनों आरोपियों के कारनामों काे उजागर करने की धमकियां दे रही थीं। इसके चलते तीनों दोस्तों ने मिलकर अपने इस जघन्य वारदात में मामी देवी पत्नी रतनपुरी तथा मंगलाराम पटेल की पत्नी विद्या को भी शामिल कर लिया।
इन पांचों ने मिलकर पिंकी के साथ उसके तेरह दिन के बेटे व उसके तीन साल के बेटे की गला घोंटकर हत्या करने की दिल दहलाने वाली वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से मौके पर ही शवों के पोस्टमार्टम कराने के बाद मृतका के पति चंदन पुरी को सौंप दिए। पुलिस ने मृतकों के बिसरा और डीएनए सैंपल लिए हैं। मामले की जांच तखतगढ़ पुलिस को सौंपी गई है, जिसने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर गहनता से पूछताछ शुरू की है।

विवाहिता के विरोध और अवैध संबंधों की कहानी का भंडाफोड़ होने के डर से जेठ अपने ननिहाल सोनाई लाखा ले आया। यहां अपनी भाभी, अन्य महिला तथा दो दोस्तों के साथ 13 दिन के मासूम, 3 साल के बेटे और विवाहिता को मौत के घाट उतार तीनों के शव खेत में गाड़ दिए।

एसपी दीपक भार्गव का कहना है कि यह जघन्य हत्याकांड है। जमीन में दफन किए गए हत्याकांड का राज खोलने में खासकर हैडकांस्टेबल कमलसिंह, कांस्टेबल रवि मीणा, महिला कांस्टेबल सीमा तथा साइबर सेल के कांस्टेबल ओमप्रकाश सीरवी की भूमिका सराहनीय रही। साथ ही सीओ सुमेरपुर अमरसिंह चंपावत के साथ रोहट एसएचओ देवेंद्रसिंह कविया व तखतगढ़ थाना प्रभारी नाथूसिंह की तत्परता से चंद घंटे में ही सभी आरोपी पकड़े गए।

  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।