मनोरंजन
अक्सर 2 में अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए पूरी तरह तैयार मोहित मदान
title=

 आपने अभिनेता मोहित मदान के बारे में सुना है लेकिन आज आप उनको उनके अनभवों को भी जानेंगे। मोहित मदान का जन्म यूं तो भारत की राजधानी दिल्ली में हुआ लेकिन उन्हे पहचान न्यूजीलैंड़ में मिली।जहां उन्होने धीरे धीरे एक एक अभिनेता की दुनिया में प्रवेश कर रहा था। मदान की पहली फिल्म लव एक्सचेंज को वो सफलता नहीं मिली जिसकी उन्हें तलाश थी। अक्सर 2 में अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए पूरी तरह तैयार, संगीत-थ्रिलर Aksar के इस अभिनेता के इंतिहान का यह दूसरा प्रयास है। पेश हैं मोहित मदान से वार्तालाव के कुछ अंश....

कैसे आपने Aksar 2 भूमिका में अपने अभिनय को उतारा?
मैं एक ऑडिशन के लिए बुलाया गया । मेने वहां अलग अभिनय को करने की कोशिश की। मेने अलग कपड़े को पहना। और अंत में, मैने अपने अभिनय से इस बहुत ही रोचक चरित्र की भूमिका जीता लिया। 
फिल्म में आपका किरदार कैसे महत्व पूर्ण है क्योकि फिल्म में तीन और अभिनेता गौतम रोडे, जरीन खान और अभिनव शुक्ला बेहतर अनुभव के साथ मोजूद हैं?
फिल्म में मेरी एक छोटी महत्वपूर्ण भूमिका है।वास्तव में, इस फिल्म में सभी किरदार काफी मजबूत हैं।मेरे किरदार सके बारे में कहा जाए तो यह फिल्म के सेकिंड हॅाफ में काफी रोचक है।में फिल्म के बारे में ज्यादा नहीं बता सकता क्योकि इसको अभी समय है।
फिल्म की रिलीज डेट क्या हैं?
फिल्म को 2017 के पहले छह महिनों में रिलीज हो जाना चहिए। मॉरिशस में तय समय इसमें शामिल है।अब शूटिंग के लिए सिर्फ कछ दिन बचे हैं। फिल्म अक्सर का संगीत काफी हिट था। जिसे अभी भी याद किया जाता है।
क्या आपको लगता है अक्सर2 का संगीत भी यह कमाल दिखाएगा?
मैं यह मानता हूं हर फिल्म को अपने पहले भाग से बेहतर होना चाहिए। हमारे पास एक बेहतर संगीत जिसकी है जो फिल्म अक्सर की तरह हिट होगा।
Aksar के किसी भी ट्रैक का प्रयोग Aksar 2 में किया है?जैसे, हाल ही में रॉक ऑन शीर्षक गीत के निर्मित संस्करण को रॉक ऑन2 में शामिल किया गया था ?
मुझे नहीं लगता कि निर्माताओं की ऐसी कोई योजना है। चूंकि अक्सर 2 की कहानी अक्सर से अलग है, संभवत संगीत भी अलग है। केवल शैली और आधार एक है।
निर्देशक अनंत नारायण महादेवन के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?
वह एक अच्छे निर्देशक और महान आदमी है। वह जानते है कि कैसे एक अभिनेता के अंदर छुपी प्रतिभा का प्रदर्शन किया जाए। में उन्हें अक्सर सवाल पूंछ कर परेशान किया करता था लेकिन वह हम शालीनता और धैर्य से उसका जबाव देते थे।
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • captcha
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें,हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।